विपस्सना

विपस्सना मनुष्य-जाति के इतिहास का सर्वाधिक महत्वपूर्ण ध्यान-प्रयोग है । जितने व्यक्ति विपस्सना से बुद्धत्व को उपलब्ध हुए उतने किसी और विधि से कभी नहीं । विपस्सना अपूर्व है ! विपस्सना शब्द का अर्थ होता है : देखना, लौटकर देखना । बुद्ध कहते थे : इहि पस्सिको, आओ और देखो ! बुद्ध किसी धारणा का आग्रह नहीं रखते । बुद्ध के मार्ग पर चलने के लिए ईश्वर को मानना न मानना, आत्मा को मानना न मानना आवश्यक नहीं है । बुद्ध का धर्म अकेला धर्म है इस पृथ्वी पर जिसमें मान्यता, पूर्वाग्रह, विश्वास इत्यादि की कोई भी आवश्यकता नहीं है Continue Reading…

अमरनाथ यात्रा : श्रद्धा,भक्ति और रोमांच की यात्रा

आस्था एवं साहस की बुलंदियों का पर्याय है अमरनाथ यात्रा । अमरनाथ गुफा हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थस्‍थल है   प्राचीनकाल में इसे ‘अमरेश्वर’ कहा जाता था | श्रीनगर से करीब 145 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है अमरनाथ गुफा जो हिमालय पर्वत श्रेणियों में स्थित है |समुद्रतल से 14500 फुट की ऊंचाई पर विशाल प्राकृतिक गुफा के रूप में अवस्थित है यह तीर्थ । इसी गुफा में भगवान शिव हिमलिंग के रूप में आकार लेते हैं । हर वर्ष सावन माह में इस हिम शिवलिंग के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लग जाता है । अमरनाथ का संबंध अमरत्व Continue Reading…